Post Top Ad

Post Top Ad

Friday, 31 May 2019

मोदी के मंत्री प्रताप सारंगी







प्रधानमंत्री के तौर पर नरेंद्र मोदी  (PM Narendra Modi)  दूसरी बार शपथ ले चुके हैं. राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद (Ramnath Kovind) ने राष्ट्रपति भवन के प्रांगण में एक भव्य समारोह में मोदी व उनके मंत्रिमंडल के 57 सदस्यों को पद व गोपनीयता की शपथ दिलाई. लेकिन इन सबके बीच जिस नाम की सबसे ज्यादा चर्चा है, वो है ओडिशा के सांसद प्रताप चंद्र सारंगी (Pratap Chandra Sarangi) का. प्रताप चंद्र सारंगी ने गुरुवार को राष्ट्रपति भवन में  केंद्रीय राज्यमंत्री के तौर पर शपथ ली. प्रताप चंद्र सारंगी को उनके सादे  जीवन के लिए भी जाना जाता है. जब वो शपथ ले रहे थे, तब वहां मौजूद लोगों ने उनको चीयर किया. इतना ही नहीं इस दौरान बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह (Amit Shah) ने भी प्रताप चंद्र सारंगी (Pratap Chandra Sarangi) के लिए तालियां बजाईं.


अब 64 साल के हो चुके प्रताप चंद्र सारंगी (Pratap Chandra Sarangi) ने कभी साधु बनना चाहा था और वह एकांत जीवन बिताना चाहते थे लेकिन उनका समाज के प्रति समर्पण और जनसेवा का भाव उनको मोदी मंत्रिमंडल में ले आया. सारंगी लंबे समय तक आरएसएस से जुड़े रहे हैं और इस बार के लोकसभा चुनाव में उन्होंने बालासोर संसदीय सीट से बीजद प्रत्याशी रबींद्र कुमार जेना को 12,956 मतों से हरा दिया. बीजेपी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी के सदस्य सारंगी को ओडिशा का मोदी भी कहा जाता है. वह दो बार ओडिशा विधानसभा के लिए चुने जा चुके हैं.

प्रताप चंद्र सारंगी (Pratap Chandra Sarangi) के विरोधी जहां कार से चलते हैं. वहीं,  अधिकतर वो साइकिल का प्रयोग करते देखे जाते हैं. चुनाव प्रचार में जनता से जुड़ने के लिए उन्होंने एक ऑटो रिक्शा भी किराए पर लिया था. यह पहला मौका नहीं है जब प्रताप चंद्र सारंगी ने लोकसभा चुनाव लड़ा हो. उन्होंने साल 2014 में भी लोकसभा चुनाव लड़ा था, लेकिन उन्हें रबींद्र कुमार जेना ने हरा दिया था. राष्ट्रीय चुनाव लड़ने से पहले  सारंगी 2004 से 2014 तक ओडिशा विधानसभा के सदस्य रहे हैं. 

ओडिशा की बालासोर लोकसभा सीट से चुनाव जीतकर आए प्रताप चंद्र सारंगी को भी नरेंद्र मोदी सरकार में मंत्री बनाया गया है। इन्हें राज्यमंत्री का प्रभार मिला है। एकदम साधारण वेशभूषा और सामान्य जनजीवन वाले प्रताप सारंगी चुनाव जीतने के बाद से ही काफी चर्चा बटोर रहे हैं। प्रताप चंद्र सारंगी जो बालासोर से भारतीय जनता पार्टी के नवनिर्वाचित सांसद है। उन्हें 'ओडिशा का मोदी' भी कहा जाता है। बताया जाता है कि मोदी जब भी ओडिशा आते हैं तो सारंगी से मुलाकात जरूर करते हैं।


इलाके पर पकड़ होने के कारण ही लगभग 13000 वोटों से जीते है प्रतापचन्द्र सारंगी, आज भी झोपड़े में रहते है। प्रताप चंद सारंगी 542 सांसदों में सबसे गरीब आर्थिक रुप से कमजोर सांसद हैं। जिनके पास मोबाइल नहीं है। झोपडी में निवास है। ग्राम पंचायत के हैंडपंप पर स्नान करते हैं। 12970 वोटों से अरबपति उम्मीदवार को हरा कर विजेता बने हैं। इन्होंने पूरा प्रचार साइकिल से किया।

No comments: