Online Shopping Via Suddh News

बीजेपी की सरकार बन गई पर राम मंदिर कब बनेगा !



आज 21 राज्यों में बीजेपी की सरकार बन गई है। वर्ष 2017 में योगी आदित्यनाथ घूम-घूमकर बीजेपी (भारतीय जनता पार्टी) के मंच से राम मंदिर निर्माण की बात कहते थे। उन्होंने कहा था कि यदि यूपी में बीजेपी की सरकार बनेगी तो मंदिर का निर्माण होगा।
यूपी में एक वर्ष हो गया बीजेपी की सरकार बने हुए लेकिन मंदिर का नाम कोई नहीं ले रहा है। केंद्र से लेकर यूपी तक बीजेपी की सरकार है और राष्ट्रपति हो या फिर उपराष्ट्रपति सब बीजेपी के हैं। इसके बावजूद मंदिर नहीं बन पा रहा है, वैसे मंदिर अब नहीं बनेगा तो कब बनेगा।
भैयाजी जोशी ने नागपुर में आरएसएस की महत्वपूर्ण अखिल भारतीय प्रतिनिधि सभा की बैठक के इतर संवाददाताओं से कहा, ‘‘यह निश्चित है कि उस स्थान (अयोध्या) पर राम मंदिर का निर्माण होगा और वहां कुछ और नहीं बन सकता, यह भी निश्चित है।''

पर फिर वही सवाल सभी के मन में है। बीजेपी की सरकार बन गई पर राम मंदिर कब बनेगा !

आपका मंदिर निर्माण में क्या मत है निचे दिए हुए विकल्पों को चुन कर जनता के सामने भेजे।



क्या श्री राम मंदिर नरेंद्र मोदी जी के कार्यकाल में बनेगा या यह मुद्दा इसी तरह चलता रहेगा।

२०१९ चुनाव से पहले राम मंदिर का निर्माण होगा।
२०१९ चुनाव के बाद भी राम मंदिर का निर्माण नहीं होगा।
बीजेपी केवल राम मंदिर निर्माण को मुद्दा बना कर चुनाव पे चुनाव जीत रही है।

सुद्ध न्यूज़ के बैनर तले भव्य राम मंदिर निर्माण हेतु हिंदूवादी संगठन हुए एकजुट हो। अयोध्या धाम में श्री राम जन्मभूमि पर भव्य राम मंदिर निर्माण हेतु अपना आक्रोश दिखाए। सुद्ध न्यूज़ के द्वारा सभी हिंदू वादी राष्ट्रवादी विचार को संगठित हो धर्म चारों के विचारों के उपरांत प्रस्ताव पारित कर भारत के प्रधानमंत्री को संदेश दिया जाएगा कि उत्तर प्रदेश में योगी और केंद्र में मोदी अगर हैं

तो भव्य राम मंदिर निर्माण में देरी कैसी भव्य मंदिर निर्माण अब नहीं तो कब।  
120 करोड़ राम भक्त हिंदू ने भाजपा को सत्ता इसलिए सौंपी है कि उन्होंने पिछले 40 वर्षों से पूरे देश को यह स्वप्न दिखाया कि जब हम पूर्ण बहुमत से सत्ता में होंगे तो विधेयक लाकर अयोध्या धाम में भव्य राम मंदिर निर्माण करवाएंगे लेकिन दुखद है कि 4 वर्ष बीत जाने के बाद भी सब जगह पूर्ण बहुमत होने के बावजूद भी रामलला टाट में उपेक्षित है
जिससे सत्ता को पाने के लिए भाजपा ने सैकड़ों कार सेवको का बलिदान करवाया उनका बलिदान व्यर्थ नहीं जाने दिया जाएगा।

दुर्भाग्यपूर्ण है कि केंद्र में भाजपा की सत्ता होने के बावजूद मंदिर निर्माण नहीं हो पा रहा है राम मंदिर के नाम पर किसी भी प्रकार का समझौता चाहे वह सुप्रीम कोर्ट द्वारा ही निर्धारित हो बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। 


0