Full Width CSS

देश के प्रमुख अखाड़े - Akharas of Sadhus and Sants in India




भारत देश में एक आदरणीय समाज है जिनको हम सभी साधु संत कह कर संबोधित करते है।  ये देश के और समाज के बड़े सम्मानित लोगो में शामिल है। कहते है साधु ही भगवान तक पहुंचने में जल्दी शक्षम होता है। संधू संत समाज हमेशा से ही आम लोगो के हित के बारे में सोचते है पर उनका स्वयं का जीवन वे भगवान के लिए अर्पित कर देते हैं।  साधु संतो के भी घर होते हैं जिन्हे हम अखाडा कह कर बुलाते है।  भारत देश में कई अखाड़े है जो न जाने कितने वर्षो से है।
पर क्या आप जानते है भारत में कितने अखाड़े है।  और कहा है। अगर आप १० लोगो से पूछोगे तो शायद कोई एक या दो लोग ही कुछ एक या दो के नाम बता पाए।
आज आपको शुद्ध न्यूज़ उन अखाड़ों की जानकारी देना चाहता है।  आप सभी से निवेदन है आप अपने मित्रो या परिवार वालो के इन जानकारी को शेयर करे ताकि अखाड़ों में रहने वाले साधु संतो को भी लगे की समाज उनके साथ है।

निर्वाणी अनी 

शावती भगवान शिव के अनुयायी हैं जिन्हें संन्यासी भी कहा जाता है, इसमें सबसे अधिक संख्या में अखाडा और साथ ही साधु, संत और नागा साधु हैं। यहाँ सात निर्वाणियों और अखाडा हैं।

श्री पंचायत अखरा महानरीवानी -ईलाहाबाद
श्रीपंच अटल अखाड़ा - वाराणसी
श्री पंचायत अखाड़ा निरंजनी -ईलाहाबाद
तपोन्धी श्री आनंद आखा पंचायत- नासिक
श्री पंचधनाम जुना अखारा - वाराणसी
श्री पंचधनाम आवाह आखा - वाराणसी
श्री पंचध्यानम पंचग्नी अखरा-जूनागढ़

दिगंबर ऐनी

दिगंबर ऐनी  में तीन प्रमुख अखाड़े और वैष्णव या भगवान विष्णु के अनुयायी शामिल हैं, जिन्हें बैरागी अखाडा के नाम से भी जाना जाता है, दिगंबर ऐनी  अखाडा की सूची नीचे दी गई है।
श्री दिगंबर अनि अखाडा-साबरकांठा
श्री निर्वानी अन्नी अखाडा - अयोध्या
श्री निर्मोही अनी अखाडा -मथुरा

निर्मल अनी

निर्मल अन्नी भी अपने तीन प्रमुख अखाड़े, जो उदासीन अखाडा या तटस्थ अखाड़े, ज्यादातर इलाहाबाद और हरिद्वार में स्थित के रूप में जाना जाता है।
श्री पंचायत बडा उदासीन अखाडा -अलाहाबाद
श्री पंचायत अखरा नया उदसेन-हरिद्वार
श्री निर्मल पंचायत आखाड़ा-हरिद्वार

0